Diwali Puja in Hindi – दिवाली पूजा विधि

ASTROLOGY SUPPORT  

HAPPY Diwali BY ASTROLOGY SUPPORT
HAPPY Diwali BY ASTROLOGY SUPPORT

दीवाली हिन्दूओं के मुख्य त्यौहारों में एक है। इस वर्ष दीवाली 11 नवंबर 2015 को मनाई जाएगी। दीवाली भगवान श्री राम के अयोध्या वापसी की खुशी में मनाई जाती है। इस दिन लक्ष्मी जी की पूजा का विधान है। 

पूजा में आवश्यक साम्रगी: इस दिन लक्ष्मी जी की पूजा में दीपक, कमल के फूल, जावित्री, लड्डू आदि को अवश्य शामिल करना चाहिए। नारदपुराण के अनुसार कमल के फूल तो माता लक्ष्मी को अतिप्रिय होते हैं। पूजा करने के लिए उत्तर या पूर्व दिशा में मुख करना चाहिए।

पूजा विधि (Laxmi Puja Vidhi on Diwali): स्कंद पुराण के अनुसार कार्तिक अमावस्या के दिन प्रात: काल स्नान आदि से निवृत होकर सभी देवताओं की पूजा करनी चाहिए। इस दिन संभव हो तो दिन में भोजन नहीं करना चाहिए। इसके बाद प्रदोष काल में माता लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए। माता की स्तुति और पूजा के बाद दीप दान करना चाहिए।
लक्ष्मी मंत्र (Laxmi Mantra in Hindi): लक्ष्मी जी की पूजा के समय निम्न मंत्र का लगातार उच्चारण करते रहें: 

ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम: ॥

अन्य लक्ष्मी मंत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे: Laxmi Mantra in Hindi
दीपावली पूजा की अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें: Diwali Puja in Hindi
लक्ष्मी जी की आरती पढ़ने के लिए क्लिक करें: Laxmi Ji ki Aarti in Hindi

Astrology Support
Astrology Support

FREE ASTROLOGY AT ASTROLOGY SUPPORT