8 APRIL 2017 HINDU PANCHANG – ASTROLOGYSUPPORT.COM

Year: Hevilambi (1939) Today Panchang, Daily Panchang

Ayanam: Uttarayana

Ritu: Vasanta

Week: Saturday

Month: Chaitra

Paksha: Shukla Paksha

Tithi: Dvadashi 9:00 am

Nakshatra: P.Phalguni 12:32 am+

Yoga: Ganda 9:57 am

Karana: Balava 9:00 am, Kaulava 9:12 pm

Varjya: 7:53 am – 9:33 am

Durmuhurth: 6:06 am – 6:55 am, 6:55 am – 7:45 am

Rahukal: 9:12 am – 10:45 am

Yamaganda: 1:50 pm – 3:23 pm

Amritakaal: 5:53 pm – 7:33 pm

Gulika: 6:06 am – 7:39 am

Sunrise: 6:06 am

Sunset: 6:29 pm

Solar Zodiac: Mina

Lunar Zodiac: Simha

 

Advertisements

अगर चाहते है हनुमान जी से मनचाहा वरदान तो करें इन मंत्रो का जाप

1

hanuman ji 1.png

2

hanuman ji 2

Continue reading “अगर चाहते है हनुमान जी से मनचाहा वरदान तो करें इन मंत्रो का जाप”

7 April 2017 Hindu Panchang – astrologysupport.com

Aaj ka hindu panchang

Year: Hevilambi (1939) Today Panchang, Daily Panchang

Ayanam: Uttarayana

Ritu: Vasanta

Week: Friday

Month: Chaitra

Paksha: Shukla Paksha

Tithi: Ekadashi 8:55 am

Nakshatra: Magha 11:34 pm

Yoga: Shuula 10:56 am

Karana: Vishti/Bhadra 8:55 am, Bava 8:54 pm

Varjya: 11:17 am – 12:55 pm

Durmuhurth: 8:35 am – 9:25 am, 12:43 pm – 1:32 pm

Rahukal: 10:45 am – 12:18 pm

Yamaganda: 3:23 pm – 4:56 pm

Amritakaal: 9:06 pm – 10:45 pm

Gulika: 7:39 am – 9:12 am

Sunrise: 6:07 am

Sunset: 6:29 pm

Solar Zodiac: Mina Lunar

Zodiac: Simha

आप के प्रेम जीवन से जुड़ी हर समस्या का समाधान है यहाँ – www.astrologysupport.com

अगर आपने सच्चा प्यार किया है तो क्या आप जानना चाहते है की आपको आपका सच्चा प्यार कब मिलेगा? क्या आप का साथी आप का हमसफ़र होगा या नहीं ? क्या आप इस रिस्ते को आगे बड़ा पायगे या नहीं ? हम आप के इन सब सवालों का सही जवाब दे सकते हैं ताकि आपका प्रेम जीवन अच्छा रहे और आप कुछ रहो.

आप अपने समस्या का समाधान भी यहां पर पा सकते हैं

बस आपको हमारी साइट पर जाके अपनी समस्या बतानी है और अपनी डिटेल देनी हैं।
आप हमसे संपर्क भी कर सकते हैं वो भी बिना किसी शुल्क के।

अभी कॉल करे +91 8875270809 

website : www.astrologysupport.com

Email : help.astrologer@gmail.com

कुंडली में मांगलिक दोष दूर करने के लिए सरल समाधान

जिन लोगों को मंगल दोष होता है उनकी शादी में बेहद परेशानियां आती हैं। जीवन के मंगल दोष को लेकर लोगों में तमाम गलत धारणाएं हैं. यही वजह है कि लोग अक्सर इस दोष के निवारण के लिए उल्टे-सीधे उपाय करने लगते हैं, जिससे समस्याएं कम होने की बजाय कई गुना बढ़ जाती हैं.

कुंडली का मंगल दोष और उसके उपाय:

क्या होता है मंगल दोष ?
– मंगल जब कुंडली के लग्न, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम या द्वादश भाव में हो तो मंगल दोष होता है.
– मंगल दोष में भी लग्न और अष्टम भाव का दोष ज्यादा गंभीर होता है.
– मंगल एक क्रूर ग्रह है, इसलिए विवाह पर इसका प्रभाव समस्याएं ही बढ़ाता है.
– मंगल दोष होने पर विवाह के मामले में सावधानी रखनी चाहिए.
– अगर मंगल दोष वर-वधू में से किसी एक की कुंडली में है तो दूसरे से तालमेल खराब हो जाता है.

मंगल दोष की मान्यताएं क्या हैं ?
– वैवाहिक जीवन में एक व्यक्ति मंगली हो और दूसरा न हो तो दूसरे की मृत्यु तक हो सकती है.
– पति-पत्नी के बीच में हिंसा हो सकती है.
– पति-पत्नी में से कोई एक मंगली हो तो दूसरा साथी हमेशा बीमार रहता है.
– मंगल दोष के कारण व्यक्ति को सर्जरी और दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ सकता है.
– मंगल दोष बड़ी समस्याएं देता है, ये व्यक्ति के जीवन को तहस-नहस कर देता है.

मंगल दोष के लिए क्या उपाय बताए जाते हैं और ये कितने सही हैं-
– मंगली व्यक्ति की शादी घड़े, पेड़ या मूर्ति से कराया जाता है.
– ये बिल्कुल भी उचित नहीं है और इसका कोई लाभ भी नहीं होता.
– आमतौर पर मंगली व्यक्ति को मूंगा पहना दिया जाता है.
– जबकि हर स्थिति में मूंगा लाभ नहीं पहुंचाता है, इससे भयंकर नुकसान भी हो सकता है.
– मंगली व्यक्ति के मंगल की शांति करा दी जाती है.
– जबकि अगर मंगल शुभ परिणाम वाला हुआ तो जीवन में समस्याएं बढ़ जाती हैं.
– आमतौर पर मंगल दोष के लिए कराए गए ज्यादातर उपाय लाभकारी नहीं होते.

मंगल दोष के लिए करें सही और लाभकारी उपाय:
– मंगल कुंडली में जिस तरह की समस्या दे रहा हो उसके मुताबिक ही समाधान करें.
– क्योंकि हर मामले में मंगल वैवाहिक जीवन ही खराब नहीं करता.
– मंगल दोष के मामले में सबसे ज्यादा ध्यान स्वभाव का रखना चाहिए.
– अपने खान-पान की आदतों में बदलाव लाएं.
– गर्म और ताजा भोजन करने से कमजोर मंगल मजबूत होता है.
– इससे पाचन क्रिया और मनोदशा भी ठीक रहती है.
– हनुमान जी की नियमित उपासना करने से विशेष लाभ होता है.

source – aajtak.intoday.in

 

नवरात्र के नौवें दिन ऐसे करें पूजा

ऐसे करें पूजा
माता के नौवें रूप सिद्धिदात्री की भी पूजा मां के अन्‍य रूपों की तरह ही की जाती है, लेकिन इनकी पूजा में नवाह्न प्रसाद, नवरस युक्त भोजन, नौ किस्म के फूल और नौ प्रकार के फल अर्पित करने चाहिए. पूजा में सबसे पहले कलश और उसमें मौजूद देवी देवताओं की पूजा करें. इसके बाद माता के मंत्र का जाप करें.

मां सिद्धिदात्री का मंत्र
सिद्धगन्धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि।
सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी।।
नवमी के दिन नौ कन्‍याओं को कराएं भोजन
नवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा के बाद नौ कन्‍याओं को भोजन कराना चाहिए. कहा जाता है कि छोटी कन्‍याओं में मां का वास होता है, इसलिए नवमी के दिन उनकी पूजा की जाती है और भोजन कराया जाता है.

एक दिन है अष्‍टमी और नवमी तिथि
चैत्र नवरात्र की अष्‍टमी और नवमी तिथि एक दिन यानि 4 अप्रैल को है. सुबह 10:10 बजे अष्‍टमी तिथि के खत्‍म होने के बाद नवमी तिथि आरंभ हो जाएगी. दोनों तिथियां एक साथ होने से मां के आठवें और नौवें स्‍वरूप की पूजा भी एक साथ ही किया जाना चाहिए. इसके साथ ही भगवना श्रीराम की जन्‍मतिथि भी इसी दिन है, तो इसके साथ राम नवमी भी मनाई जाएगी.

online vashikaran specialist astrologer – ClICK HERE
husband wife problem solution – ClICK HERE
online love back problem solution – ClICK HERE
online love back specialist astrologer – ClICK HERE
online love marriage specialist astrologer – ClICK HERE
wazifa for love back solution – ClICK HERE
wazifa for love marriage solution – ClICK HERE
vashikaran mantra for love marriage – ClICK HERE
vashikaran mantra for love back – ClICK HERE
black magic specialist astrologer – ClICK HERE
dua for love marriage – ClICK HERE

नवरात्र के नौवें दिन करें मां सिद्धिदात्री की पूजा, हर काम होंगे सिद्ध

मां सिद्धिदात्री नवमी तिथि पर मां को विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाएं जैसे- हलवा, चना-पूरी, खीर और पुए और फिर उसे गरीबों को दान करें. इससे जीवन में हर सुख-शांति मिलती है.

 

नवरात्र के नौवें दिन मां के नौवें स्‍वरूप सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है. मां सिद्धिदात्री सभी प्रकार की सिद्धियों की दाती हैं, इसीलिए ये सिद्धिदात्री कहलाती हैं. नवरात्रि के नौवें दिन इनकी पूजा और आराधना की जाती है. कहा जाता है कि मां सिद्धिदात्री की पूजा करने से रूके हुए हर काम पूरे होते हैं और हर काम में सिद्धि मिलती है.

 

online vashikaran specialist astrologer – ClICK HERE
husband wife problem solution – ClICK HERE
online love back problem solution – ClICK HERE
online love back specialist astrologer – ClICK HERE
online love marriage specialist astrologer – ClICK HERE
wazifa for love back solution – ClICK HERE
wazifa for love marriage solution – ClICK HERE
vashikaran mantra for love marriage – ClICK HERE
vashikaran mantra for love back – ClICK HERE
black magic specialist astrologer – ClICK HERE
dua for love marriage – ClICK HERE